दुखद: अभी-अभी लता मंगेशकर से जुड़ी इस एक खबर ने पूरे बॉलीवुड को दे दिया सदमा

Celebrities

देश-विदेशों में स्वर कोकिला से जाने जानी वाली लता मंगेशकर भारत की सबसे प्रसिद्ध, बेहतरीन और सम्मानित गायकों में अपना नाम शामिल करा चुकी है. अपने जीवनकाल में करीब 1000 से भी ज़्यादा फिल्मों में उन्होंने अपनी आवाज का दम गानों के रूप में दिखाया. आज भी उनकी आवाज का वो अलग जादू लोगों पर बरकरार है.

source

जानकारी के लिए बता दें कि साल 1989 में वो भारत सरकार द्वारा दादासाहेब फालके अवार्ड से भी सम्मानित हो चुकी हैं. जो अपने आप में काबिले तारीफा है क्योंकि एम. एस सुब्बुलक्ष्मी के बाद वह देश की अकेली दूसरी गायिका हैं जिन्हें भारत के सर्वोच्च अवार्ड भारत रत्न से सम्मानित किया गया है. आज भी भारतीय फिल्म इंडस्ट्री में लता मंगेशकर का रुतबा कायम है, लेकिन हाल ही में भारत के इस कोहिनूर लता जी को लेकर एक बेहद चौका देने वाली खबर सामने आई है.

जी हाँ ये खबर सुनकर जहाँ पूरी बॉलीवुड सदमे में है तो वहीँ उनके चाहने वाले भी परेशान हैं. बता दें कि एक खबर के मुताबिक एक महिला लता जी के नाम पर अब तक लोगों से लाखों की ठगी कर चुकी है. हालांकि इस बात के सामने आने के बाद अब पुलिस इस महिला की तलाश में लग गई है.

source

जानिए आखिर कौन है यह महिला..

सूत्रों के अनुसार इस महिला का नाम रेवती खरे बताया जा रहा है, जो मुंबई के नालासोपारा की रहने वाली है. दरअसल इस महिला पर आरोप है कि यह अब तक कई अमीर व बड़े लोगों से दान के नाम पर लाखों पैसे ठग चुकी है. पुलिस के अनुसार ये शातिर ठग महिला लता मंगेशकर के नाम पर एक फर्ज़ी लेटर हेड छपवा कर अपनी ठगी के इस गंदे काम को अंजाम देने के लिए कई लोगों से अब तक मुलाकात कर चुकी है.

source

महिला का झूठ तब सामने आया जब पैसे दान करने वाले एक व्यक्ति ने इस ठग को पैसे देने के बाद लता मंगेशकर को सामाजिक कार्य करने के लिए बधाई दी. जिसके बाद लता जी ने खुद अपने पीए महेश राठौड़ द्वारा पुलिस में शिकायत दर्ज करवाई ताकि ये महिला उनके नाम से और लोगों को अपना शिकार न बना पाए.

आखिर क्या हुआ है खुलासा  

सूत्रों के अनुसार यह ठग महिला बड़ी-बड़ी पार्टियों और बुक रिलीज़ में बतौर अतिथि जाती थी, जहां वह अपने आप को लता मंगेशकर की स्वंय सेवक सहयोगी बताकर चैरिटी के नाम पर पैसे ठगने का काम करती थी. ये इस बात का भी पूरा ध्यान रखती थी कि वह किसी की पकड़ में ना आ सके जिसके लिए वो दान देने वालों को ये बोलकर शांत कर देती थी कि लता जी इस काम के लिए कोई पब्लिसिटी नहीं चाहतीं. हालांकि मामला दर्ज कर अब पुलिस इस महिला की खोज कर रही है.