प्रद्युम्न हत्याकांड का पर्दाफाश 25 लाख रुपए दिए गए तो आरोपी अशोक ने कहा

देश

8 सितम्बर को हर रोज की तरह ही प्रद्युम्न के पिता घर से अपने बेटे को स्कूल छोड़ने के लिए निकले थे. उन्होंने प्रद्युम्न को सुबह-सुबह करीब 8 बजकर 15 मिनट पर रेयान इंटरनेशनल स्कूल के गेट पर छोड़ा था. अपने दोनों बच्चों को स्कूल छोड़कर उन्होंने करीब 8:45 पर घर के अंदर कदम रखा ही था कि उन्हें स्कूल से फोन आ गया कि प्रद्युम्न को चोट लग गयी है और उसकों अस्पताल ले जाया जा रहा है.ये बात सुनते ही प्रद्युम्न के माता-पिता अस्पताल की तरफ भागते है पर उन्हें वहां जाकर पता चलता है कि प्रद्युम्न की मौत हो चुकी है या यूँ कहे उसकी हत्या कर दी गयी है.

चाकू से गला रेतकर की गयी थी प्रद्युम्न की हत्यामामला जैसे ही सुर्खियों में आया मामले ने तूल पकड़ लिया क्योंकि जहां रोज माता-पिता अपने बच्चों को बड़े आस से पढ़ने भेजते है ताकि उनका भविष्य बन सके. उस शिक्षा के मंदिर में किसी बच्चे की हत्या हो जाए ऐसा कोई कभी बर्दाश्त नहीं कर पायेगा. कहा जाता है कि प्रद्युम्न की हत्या चाकू से गला रेतकर की गई थी.जिसके कुछ देर बाद प्रद्युम्न को खून से लथपथ स्कूल के माली ने टॉयलेट के बाहर पड़ा हुआ देखा था और इस बात की सूचना स्कूल की प्रिंसिपल को दी थी.

प्रद्युम्न केस में सबसे पहले शक की सुई स्कूल बस के कंडक्टर अशोक पर गयी और जब पुलिस ने उससे सख्ती से पूछताछ कि तो उसनें अपना जुर्म कबूल कर लिया. अशोक ने पुलिस को बताया कि वो प्रद्युम्न का यौन शोषण करने की कोशिश कर रहा था और जब ऐसा करने में वो नाकाम रहा तो उसनें को हमेशा के लिए खामोश कर दिया.

अब स्कूल 10 बाद फिर से खुल चुका है और बच्चे डरे सहमे हुए स्कूल पहुंच रहे है. बच्चों में उस दिन की घटना को लेकर थोड़ा डर बना हुआ है इस केस में पहले भी खुलासे हो चुके है. लेकिन आज एक विडियो तेजी से वायरल हो रहा है जिसमें अशोक ने सोमवार को कोर्ट में ऐसा बयान दिया है जिसको सुनकर हरियाणा पुलिस के भी पैरो तले जमीन खिसक गयी.

अशोक ने कोर्ट में जज के सामने खुद को बिलकुल बेगुनाह बताया और बताया की इस हत्या से उसका कोई संबंध नहीं है.साथ ही उसनें ये भी कहा की उसकों ये गुनाह कबूल करने के लिए 25 लाख रुपये ऑफर किये गए थे.अशोक ने कोर्ट में हरियाणा पुलिस पर खुद को जबरदस्ती आरोपी बनाने का भी आरोप लगाया है.

https://m.youtube.com/watch?v=AT7ZsGX6VS8&feature=youtu.be