इसे पानी में कुछ देर भिगोने के बाद सुबह खाली पेट खाने से दूर होगी बवासीर से लेकर डायबिटीज की समस्या हमेशा के लिए !

Uncategorized

खट्टा मिठ्ठी इमली भोजन का स्वाद बढ़ाती है। कुछ लोग इसे चटनी बनाने के लिए भी इस्तेमाल करते है लेकिन स्वाद बढ़ाने के अलावा इमली सेहत के लिए भी बहुत फायदेमंद होती है। इमली के बीज बहुत लाभकारी हैं। इमली काम में ले लेने के बाद इसके बीज प्राय: फेंक दिए जाते हैं। आपको पता नहीं हैं के इमली के बीज मर्दाना शक्तिवर्धक स्वप्न दोष धातु की कमज़ोरी और स्त्रियों के प्रदर रोग में भी बहुत लाभकारी हैं।

विटामिन सी, एंटी-ऑक्सीडेंट, आयरन, फाइबर, मैगनीज, कैल्शियम और फॉस्फोरस के गुणों से भरपूर इमली का रोजाना सेवन कई बीमारियों को जड़ से खत्म कर देता है। हेल्थ प्रॉब्लम दूर करने के साथ-साथ यह स्किन और ब्यूटी प्रॉब्लम को दूर करने में भी मदद करती है।

आज हम आपको बताएंगे कि किस तरह इमली के प्रयोग से आप सेहत की कई समस्याओं को दूर कर सकते है। तो आइए जानते है आयुर्वेदिक गुणों से भरपूर इमली के फायदे.इमली के बीज के पाउडर को भूनकर दिन में 2 बार पानी के साथ लें। इसका सेवन जोड़ों, घुटनों, लुब्रिकेशन और गर्दन के दर्द से राहत दिलाता है।

बवासीर की समस्या को दूर करने के लिए दिन में 2 बार रोजाना इमली का पानी पीएं। नियमित रूप से इसका सेवन बवासीर की समस्या को जड़ से खत्म कर देता है।इमली के बीजों को पीसकर उसमें नींबू मिलाकर लगाएं। इसे रोजाना लगाने से दाद-खुजली की समस्या कुछ समय में ही दूर हो जाएगी।

गले की खराश या खांसी को दूर करने के लिए इसके पत्तों को पीसकर पीएं। दिन में 2 बार इसका सेवन गले की खराश या खांसी को मिनटों में दूर कर देगा।एंटीऑक्सीडेंट और टारटरिक एसिड से भरपूर इमली शरीर में कैंसर सेल्स बढ़ने नहीं देती, जिससे कैंसर जैसी बीमारी दूर रहती है। इसे पानी में कुछ देर भिगोने के बाद सुबह खाली पेट खाएं।

1 गिलास इमली के पानी का रोजाना सेवन शरीर में कार्बोहाइड्रेट्स को इकट्ठा नहीं होने देता, जोकि डायबिटीज मरीजों के लिए बहुत फायदेमंद है। इससे शुगर लेवल कंट्रोल में रहता है और नए रेड ब्लड सेल्स बनते है।अगर किसी को बिच्छु काट ले तो उस जगह पर तुरंत इमली के दो टुकड़े करके लगा दें। इससे बिच्छु का जगह बेअसर हो जाएगा।