विकास की राह पर जय राम सरकार,इस बड़े प्रोजेक्ट के लिए जयराम सरकार ने कसरत की तेज़ !

देश

बीजेपी विकास की तरफ बड़ी तेज़ी से कदम बढ़ा रही है और यही वजह है की सत्ता में आये हुए अभी सरकार को ज्यादा समय भी नही हुआ और सरकार ने बड़े-बड़े कदम प्रदेश के विकास के लिए उठाना शुरू कर दिया है !

प्रदेश में 61 नेशनल हाईवे बनाने के लिए जयराम सरकार ने कसरत तेज कर दी है। अगले महीने से नेशनल हाईवे की डीपीआर केंद्र को भेजनी शुरू हो जाएंगी। सीएम लगातार इसको लेकर लोक निर्माण विभाग के अधिकारियों के साथ करीब 8 बार बैठक कर चुके हैं।तकरीबन सभी नेशनल हाईवे की डीपीआर बनाने के लिए कंसलटेंट नियुक्त किए जा चुके हैं। इन्हें जल्द डीपीआर बनाने के निर्देश दिए गए हैं। प्रदेश सरकार इसी साल से नेशनल हाईवे के टेंडर अवार्ड करने पर जोर दे रही है।

हालांकि यह टेंडर केंद्र सरकार की ओर से होने हैं। लेकिन इससे पहले प्रदेश सरकार अपनी सारी औपचारिकताएं पूरी करने में लगी है। केंद्र सरकार की ओर से सूबे को 61 नेशनल हाईवे मिले हैं।केंद्रीय भूतल एवं परिवहन मंत्री नितिन गडकरी से विचार-विमर्श करने के बाद केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री जेपी नड्डा ने शिमला आकर इसकी अधिसूचना जारी की थी। लोक निर्माण विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव अनिल खाची ने बताया कि लोक निर्माण विभाग नेशनल हाईवे पर फोकस किए हुए है।

विधानसभा चुनाव के दौरान भाजपा ने कांग्रेस सरकार पर नेशनल हाईवे की डीपीआर न बनाए जाने के मुद्दे पर घेरा था। विपक्ष में रहते हुए भाजपा ने सत्ता पक्ष का घेराव किया था। लोकसभा चुनाव में कांग्रेस इसको मुद्दा न बनाए। ऐसे में भाजपा सरकार समय रहते इस काम को करना चाहती है।