शॉकिंग : यहां शादी के बाद नई-नवेली दुल्हनों से कराया जाता है शर्मनाक काम, जानकर रोगंटे खड़े हो जाएंगे ..

Uncategorized

मित्रों यह तो आप लोगों को पता ही है कि जीवन को सरल बनाने के लिये एक जीवनसाथी की आवश्यकता होती है जो की शादी के पश्‍चात यह आवश्यकता पूर्ण होती नजर आती है शादी दो लोगों के मन का मिलन ही नही बल्कि दोनो को एक-दूसरे पर विश्वास का भी अटूट रिश्ता माना जाता है हर कोई यही चाहता है कि हमे ऐसा जीवनसाथी मिले जो हमारे सुख-दुख में बराबर का साथी हो और हर सुख-दुख में हमारा साथ दें, इसके चलते लड़कियां मन में हजारों सपने संजोती है.

एक लड़की के लिए उसकी शादी जीवन की सबसे बड़ी एक रस्म होती है और उम्मीद होती है कि इसके पश्‍चात उसके जीवन में खुशियां ही खुशियां आएंगी, पर आज हम आपको एक ऐसे समुदाय के बारे में बताने जा रहे हैं जहां शादी के पश्‍चात लड़कियों के हिस्से में खुशियां नहीं बल्कि दुश्वारियां आती है। यहां शादी के अगले ही दिन नई नवेली दुल्हन से ससुराल वाले वो काम करवाते हैं जिससे उनका जीवन नर्क बन जाता है।

मित्रो वैसे तो कुछ परम्‍पराओं के नाम पर बहुत सी गलत हरकते आज भी हमारे समाज में हो रही है, पर जो काम इस समुदाय में हो रह है वह बहुत ही शर्मनाक है, हम बात कर रहे है देश की राजधानी दिल्‍ली के उस इलाके कि जहां घर की दुल्‍हनों को शादी के बाद जिस्‍मफरोशी के धंधे में धकेल दिया जाता है, और स्‍वयं ससुराल वाले ही उनके लिये ग्राहक खोज कर लाते है.

शायद ये सुनकर आपको यंकीन नही हो पा रहा होगा पर यही सच है, मीडिया रिपोर्टो के अनुसार दिल्ली के नफजगढ़ के प्रेमनगर बस्ती में रहने वाले इस समुदाय में ये काम वर्षों से होता चला आ रहा हैं। इस समुदाय का नाम परना समुदाय है, इसमें 12 से 15 वर्ष की उम्र में ही लड़कियों की शादी करा दी जाती है,

शादी के पश्‍चात इन्‍हें घर के काम काज के साथ ही गैर मर्दों के साथ संबंध भी बनाने पड़ते है। इसके लिए यहां कि औरते और लड़कियां रात में ही घर का सारा काम निपटा लेती हैं और फिर दिन में वो धंधे के लिए निकल पड़ती है। ऐसा करना इनके लिए हर दिन की दिनचर्या बन चुकी है और अगर कोई लड़की इसे करने से मना करती है तो उसे उसके घर वाले प्रताड़ित करते हैं।

ऐसे में मजबूरी में औरते अपने समुदाय के इस वाहियात परम्परा का पालन करती चली आ रही हैं। इस समुदाय में पैदा होने वाली हर लड़की को ट्रेंनिंग के लिये दलालों को सौंप दिया जाता है। इनकी शादिया सामान्‍य तरीके से न होकर बोली लगाने का प्राविधान रखा है और जिसकी बोली अधिक होती है, उसी के साथ शादी की जाती है।

https://youtu.be/f0w4fqjQSAg

यह एक प्रकार का सौदा है। हालांकि इस शर्मनाक परम्‍परा के संबंध में मीडिया में बहुत कुछ खुलासा हो चुका है पर आज तक इसमें कोई बदलाव नही हुआ है, इसके लिये किसी ने आवाज नही उठायी है आज भी वहां इस तरह की घिनौनी परम्‍परा चल रही है, इसका विरोध होना अति आवश्‍यक है।