फैशन नहीं इस परंपरा के चलते यहां की महिलाएं साड़ी के साथ नहीं पहनती ब्लाउज़,क्योंकि मर्द…

Uncategorized

यहां की लेडीज कभी नहीं पहनती ब्लाउज, कुछ ऐसी है इनकी लाइफस्टाइल…

सोशल मीडिया पर ब्लाउज फ्री साड़ी का कैम्पेन चल रहा है. महिलाओं की खूबसूरती को निखारने में ब्लाउज काफी अहम होती है. साड़ी भले ही सिंपल हो पर यदि ब्लाउज का डिजाइन स्टाइलिश हो तो सुंदरता अपने आप ही बढ़ जाती है.

आज हम आपको भारत के ऐसी जगह के बारें में बताने जा रहे है जहाँ की महिलाये ब्लाउज ही नहीं पहनती. महिलाएं साड़ी के साथ ब्लाउज नहीं पहनती ! यहां के परंपरा के मुताबिक महिलाओं को ब्लाउज पहनने की अनुमति नहीं है.

छत्तीसगढ़ के आदिवासी अंचलों में काम करती महिलाएं साड़ी के साथ ब्लाउज नहीं पहनती है. इतना ही नहीं इस परंपरा के अंतर्गत महिलाएं ना तो खुद ब्लाउज पहनती है, ना ही गांव की किसी और महिलाओं को इसे पहनने देती हैं, जिन इलाकों में ये लोग रहते है वहां के रहने वाले लोग शुरू से अपनी परंपरा को निभाते चले आ रहे हैं. भारत के छत्तीसगढ़ के आदिवासी क्षेत्र की महिलाएं साड़ी के साथ ब्लाउज़ नहीं पहनती हैं.

यहाँ की महिलाओ को ब्लाउज पहनने की इज़्ज़ाजत नहीं है. छत्तीसगढ़ के आदिवासी क्षेत्र की महिलाओ के मुताबिक़ उनको साड़ी के साथ ब्लाउज पहने की इज़्ज़ाजत किसी महिला को नहीं है. साड़ी के साथ ब्लाउज पहनने लगी !

इस क्षेत्र में रहने वाले लोग लगभग एक हजार साल से इस परंपरा को लोग निभाते चले आ रहे हैं. इस तरह की आदिवासी महिलाओं का मानना है कि यह काम करने के लिए काफी सुविधाजनक होता है. अब आधुनिक फैशन ने इन इलाकों में भी दस्तक दे दी है. अब यहां की लड़कियां साड़ी के साथ ब्लाउज पहनने लगी हैं. अब इस परंपरा को बचाने में पुराने लोग लगे हुए हैं.

लेकिन अब ये बात सिर्फ यहाँ कि ही नहीं रही बल्कि शहरों में अब बिना ब्लाउज साड़ी पहनने का फैशन चल पड़ा है. कुछ मॉडलों ने इसके समर्थन में फ्री साड़ी पहनकर सोशल मीडिया पर अपनी तस्वीरें पोस्ट कर रही हैं, जिसकी लोग जमकर तारीफ भी कर रहे हैं.