जुगाड़ लगाकर घर के पास नौकरी करने वाले और स्कूल लेट आने वाले शिक्षकों को,जय राम सरकार का बड़ा झटका।

देश

प्रदेश सरकार जुगाड़ के तंत्र से घर के नजदीक स्कूलों में तैनाती लेने वाले शिक्षकों को जल्द दूर के स्कूलों में तैनात करेगी। इसे लेकर प्रदेश सरकार ने तैयारी शुरू कर दी है। शिक्षा विभाग को कई साल से घर से पांच किलोमीटर के दायरे में नौकरी करने वाले शिक्षकों की सूची तैयार करने के आदेश दिए हैं। प्रारंभिक शिक्षा और उच्च ।शिक्षा विभाग अब उन शिक्षकों की सूची तैयार करने में जुट गया है जो घर से पांच किलोमीटर के दायरे के स्कूलों में नौकरी कर रहे थे।

सूत्रों की मानें तो कई शिक्षकों का जैसे ही तबादले का समय आता है तो अपनी ऊंची पहुंच का लाभ उठाकर पांच किलोमीटर के दायरे में तबादले करवा रहे हैं। यह शिक्षक घर से दूर नहीं जाने के लिए कई बार झूठे मेडिकल तक बना लेते हैं और उसके आधार पर घर के पास तबादला करवा लेते हैं। अब प्रदेश सरकार ने झूठे मेडिकल बनवाकर तथा घर न छोड़ने वाले शिक्षकों को दूर के स्कूलों में भेजने की तैयारी कर रही है। प्रदेश भर ऐसे शिक्षकों की संख्या हजारों में बताई जा रही है।

अब प्रदेश सरकार के आदेश की सूचना मिलने के बाद पांच किलोमीटर के दायरे में नौकरी करने वाले शिक्षकों के हाथ पांव फूलने लगे हैं। सूत्रों की मानें तो कुछ अभी से जुगाड़ में जुट गए हैं।

———–

यह है बड़ा कारण

शिक्षा विभाग सहित प्रदेश सरकार को ऐसी कई शिकायतें मिली हैं, जिसमें शिक्षक स्कूल से कई दिन तक बिना बताए स्कूल से नदारद रहते हैं। शिक्षा विभाग इसे रोकने के लिए शिक्षकों की हाजिरी बायोमीट्रिक में लगाने की तैयारी कर रहा है, लेकिन जिस शिक्षक का घर पांच किलोमीटर के दायरे में होगा वह हाजिरी लगाने के बाद दिन भर निजी कामकाज निपटाने के बाद शाम को छुट्टी के समय फिर बायोमीट्रिक मशीन में हाजिरी लगाने पहुंच जाएगा। सिरमौर जिले में ऐसा मामले आ चुके हैं जहां पर स्कूल में दो शिक्षकों ने स्कूल आने के लिए बारी लगा रखी थी। इसी कड़ी में प्रदेश सरकार अब घर के पांच किलोमीटर के दायरे में रहने वाले शिक्षकों को दूर भेजने की तैयारी कर रही है।