वीरभद्र सरकार की खोली CM जय राम ने पोल,ये सच उड़ा देगा आपके भी होश।

देश

वीरभद्र सरकार की काली करतूतें एक बार फिर से प्रदेश की जनता के सामने आई है इन काली करतूतों के बारे में जानकर आपके भी होश उड़ जाएंगे।

मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने सराज दौरे के दौरान बालीचौकी में पूर्व कांग्रेस सरकार पर तीखा हमला बोला। उन्होंने कहा कि पूर्व वीरभद्र सरकार ने युवक मंडल को दिए जाने वाले अनुदान की तर्ज पर एक लाख के बजट से प्रदेश में कॉलेज खोल दिए।

पूर्व मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह ने अपने क्षेत्र के कॉलेजों को बजट दे दिया, लेकिन एक लाख की घोषणा के साथ खुले इन कॉलेजों को एक रुपया तक नहीं मिला। जब प्रदेश में भाजपा सरकार बनी तो वित्त विभाग से पता चला कि इन कॉलेजों के लिए वित्तीय स्वीकृति ही नहीं ली गई थी।

उन्होंने कहा कि उनके सीएम बनने के बाद मंडी जिला अब एकजुट है। हम सभी को मिलकर विकास करना होगा। सीएम ने कहा कि वे बोलने पर नहीं, काम करने पर विश्वास रखते हैं।

सीएम ने कहा कि जब वे 10 वर्ष पहले पार्टी अध्यक्ष बने थे तो कांग्रेस नेताओं ने कहा कि बच्चा कैसे पार्टी चलाएगा, लेकिन दस वर्ष बाद आज मुख्यमंत्री के रूप में सबके सामने हूं। उन्होंने कहा कि वीरभद्र सिंह ने थाची के लिए कॉलेज तो घोषित किया।

पांच करोड़ रुपये की घोषणा भी कर दी, लेकिन इसके लिए बजट में कोई प्रावधान किया। जब वित्त विभाग से इस बारे में जानकारी ली गई तो पाया गया कि इसके लिए भी वित्तीय स्वीकृति नहीं ली गई थी। उन्होंने कहा कि आगामी बजट में महाविद्यालय भवन के निर्माण को पूरा करने के लिए समुचित धनराशि उपलब्ध करवाई जाएगी।

पूर्व प्रदेश सरकार में था फट्टे लगाने का रिवाज
सीएम जयराम ठाकुर ने कहा कि पूर्व कांग्रेस सरकार में रिवाज था कि काम हो न हो फट्टे लगा दो। चुनाव नजदीक आते ही बिना किसी बजट प्रावधान के कई घोषणाएं की गईं। कई विकास कार्यों की आधारशिला भी रखी गई। सरकार पूर्व सरकार की ओर से छह महीनों में की गई घोषणाओं की समीक्षा करेगी। कहा कि यद्यपि सरकार बदले की भावना से कार्य नहीं करेगी, लेकिन यह सुनिश्चित करेगी कि क्या परियोजनाओं की घोषणाएं तथा पदों का सृजन बजट प्रावधानों के अनुरूप किया गया था अथवा नहीं। उन्होंने कहा कि हमें एकजुट होकर कार्य करना होगा, ताकि सराज को हिमाचल का स्विट्जरलैंड बनाया जा सके।