किडनी खराब होने के लक्ष्ण और उपाय,हमारी छोटी सी लापरवाही बनती है किडनी खराब होने की वजह जानिए कैसे !

Uncategorized

इंसान अपने आप को स्वस्थ रखने के लिए क्या कुछ नहीं करता है, कोई जिम की सहायता लेता है तो कोई पूजा-पाठ की है, हर इन्सान का अपना-अपना तरीका होता है अपने आप को स्वस्थ रखने का. जैसा कि आप सब जानते ही है कि आज के समय में हर इन्सान काम में इतना व्यस्त हो गया है कि उसे खाने से कम दवाई से ज्यादा लगाव हो गया है. भाग डोर भरी ज़िन्दगी में इंसान बीमारियों का घर बन चूका है, चाहे वो सर दर्द हो या फिर पैर दर्द..

अगर इंसान की किडनी खराब हो जाए तो उसकी मौत भी हो सकती है हमारी समझदारी ही इस रोग से हमें बचाने का काम कर सकती है.अपने खानपान को लेकर हमेशा हमें सतर्क रहने की जरूरत है आज के समय के हिसाब से.

बता दें कि आज हम आपके लिए जो जानकारी लेकार आए है जो किडनी के बारे में है. रोकिये और पहचानिये उन आदतों को जिनसे आपकी किडनी हो सकती है फ़ैल. किडनी हमारे शरीर का एक सबसे महत्वपूर्ण अंग है. जिसके द्वारा हमारे शरीर में मौजूद गंदगी बाथरूम के जरिये बाहर निकलते है. हमारे शरीर में किडनी का वजन 150 ग्राम होता है और यह हमारे शरीर के पीछे कमर की और रीढ़ के ठीक बीच के दोनों सिरों के बीच में स्थित होती है.

बता दें कि किडनी रक्त में से जल और बेकार पदार्थो को अलग करती है और किडनी शरीर में रसायन पदार्थो में संतुलित रखती है. हमारे शरीर का ब्लड प्रेशर भी कण्ट्रोल में रखती है और ये शरीर में लाल रक्त कोशिकाओं के निर्माण में भी मदद करती है लेकिन आजकल की गलत जीवनशैली ,खानपान व प्रदूषण के कारण शरीर में शुगर लेवल भी बाद जाता है. जिसके कारण आज भारत में मधुमेह रोगियों की संख्या बढ़ती जा रही है.जिसके कारण भी किडनी की बीमारी जल्दी लग जाती है.

धूर्मपान : धूर्मपान से हमारे शरीर में ब्लड प्रेशर बढ़ता है.जिससे कई बार दिल की धड़कन भी बढ़ जाती है और जिसका असर किडनी पर पड़ता है. हमारी किडनी की कार्य करने की क्षमता कम हो जाती है.

मूत्र के वेग को रोकना : कई लोग अपने यूरिन को देर तक रोक कर रखते है जिसके कारण हमारा ब्लैडर भर जाता है. यूरिन को देर तक रोक कर रखने पर यूरिन किडनी में चला जाता है.

मीठे से रखे परहेज : कई लोगो को मीठा खाने का बहुत ही शोंक होता है जैसे चॉक्लेट ,मिठाई और कोल्ड ड्रिंक्स आदि लेकिन इन सबसे हमरी किडनी पर बहुत बुरा असर पड़ता है. जयादा मात्रा में फ्रुक्टोज का उपयोग करने से हमरे शरीर में यूरिक एसिड की मात्रा बढ़ जाती है.

हाई ब्लड प्रेशर : हाई ब्लड प्रेशर से हमारी किडनी ख़राब होने का खतरा बढ़ जाता है इसलिए हमें अपने बी पि का धयान रखना चाहिए.

पैन किलर खाना :कई लोग छोटी छोटी समस्या होने पर पैन किलर या फिर एंटी बायोटिक लेना शुरू कर देते है जिससे उन लोगो को दवाइया लेने की आदत हो जाती है और वैसे भी लम्बे समय तक दवाइया लेने से हमरी किडनी पर बुरा असर पड़ता है.

वजन बढ़ना : जिन लोगो का वजन जयादा होता है उन्हें भी किडनी की समस्या होने के चान्सेस जयादा होते है इसलिए उन लोगो को अपना वजन कम करना चाहिए और इसके लिए एक्सरसाइज भी करनी चाहिए. पोटैशियम व फास्फोरस युक्त आहार का जयादा सेवन करना : कई लोग जयादा मात्रा में दलीय ,चोकर युक्त आटा,दाल ,कोल्ड ड्रिंक्स ,टमाटर ,केला ,संतरा ,फल व आलू का सेवन करते है जिससे किडनी वाले रोगियों को ये नहीं खाना चाहिए और किडनी रोग बढ़ जाते है.