बड़ी खबर : कांग्रेस के इस फैसले जय राम सरकार करेगी जांच,घोटाले की आशंका ।

देश

जब केंद्र में कांग्रेस सरकार थी तो कांग्रेस में घोटाले पर घोटाले की है घोटालों के सारे रिकॉर्ड तोड़ डाले थे और ऐसा ही कुछ अब हिमाचल कांग्रेस को लेकर सुनने में आ रहा है।

पूर्व सरकार के कार्यकाल में ठेके (वेट लीजिंग) पर ली गईं 77 बसों के मामले की जयराम सरकार जांच कराएगी। हिमाचल पथ परिवहन निगम (एचआरटीसी) की 300 बसें सड़कों पर धूल फांक रही हैं।

सरकार को शक है कि पूर्व सरकार ने किसी को फायदा पहुंचाने के लिए निजी ऑपरेटरों से बसें ठेके पर ली हैं। निगम के पास 40 वोल्वो, 28 एसी बसें और 9 टेंपो ट्रैवलर ठेके पर चल रहे हैं। एसी बसों को पर्यटन स्थलों जबकि वोल्वो को प्रदेश के अलावा बाहरी राज्यों में भेजा जा रहा है।

टेंपो ट्रैवलर शिमला से चंडीगढ़ भेजे जा रहे हैं। निगम वोल्वो और एसी बसों का 19 रुपये प्रति किलोमीटर के हिसाब से भुगतान कर रहा है। बसों में डीजल के अलावा अन्य टैक्स की अदायगी भी निगम कर रहा है।

परिवहन मंत्री गोविंद ठाकुर ने बताया कि हिमाचल में ठेके पर चलाई जा रहीं बसों की जांच होगी। अगर गड़बड़ी सामने आई तो अफसरों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। कहा कि सड़कों पर खड़ीं जवाहर लाल नेहरू अर्बन रिन्यूअल मिशन (जेएनएनयूआरएम) की सभी बसें रूट पर दौड़ाई जाएंगी।

समिति करती रही है विरोध
एचआरटीसी की संयुक्त समन्वय समिति ठेके पर बसें लेने का विरोध करती रही है। समिति के सचिव राजेंद्र ठाकुर ने बताया कि इन बसों के चलाए जाने से परिवहन निगम को लाखों रुपये का घाटा हो रहा है।

जेएनएनयूआरएम के तहत खरीदी थीं बसें
परिवहन निगम की करीब 300 बसें सड़कों पर खड़ी हैं। पूर्व सरकार ने जेएनएनयूआरएम के तहत इन बसों को खरीदा है। इन बसों को शहरी क्षेत्रों में चलाया जाना था। परिवहन निगम इन बसों को चलाने के बजाय निजी ऑपरेटरों को फायदा देने में लगा है।

news source