टोटका:16 जनवरी अमावस्या,अमावस्या सिर्फ 1 लौंग इतना आयेगा पैसा की संभाल नही पाओगे ।

Uncategorized

कभी कभी जो काम हमारी किस्मत नहीं कर पाती है वह काम कुछ टोटके करके दिखा देते हैं आज बहुत बड़ा दिन है आज है मोनी अमावस्या और आज के दिन किया गया एक आसान सा टोटका भी आपकी जिंदगी को बदलने की ताकत रखता है।

यह तिथि अगर सोमवार के दिन पड़ता है तब इसका महत्व कई गुणा बढ़ जाता है। अगर सोमवार हो और साथ ही महाकुम्भ लगा हो तब इसका महत्व अनन्त गुणा हो जाता है। शास्त्रों में कहा गया है सत युगमें जो पुण्य तप से मिलता है द्वापर में हरि भक्ति से त्रेता में ज्ञानसे कलियुग में दान से लेकिन माघ मास में संगम स्नान हर युग में अन्नंत पुण्यदायी होगा।

इस तिथि को पवित्र नदियों में स्नान के पश्चात अपने सामर्थ के अनुसार अन्न वस्त्र धन गौ भूमि स्वर्ण जो भी आपकी इच्छा हो दान देना चाहिए। इस दिन तिल दान भी उत्तम कहा गया है। इस तिथि को मौनी अमावस्या के नाम से जाना जाता है अर्थात मौन अमवस्या। चूंकि इस व्रतमें व्रत करने वाले को पूरे दिन मौन व्रत का पालन करना होता इसलिए यह योगपर आधारित व्रत कहलाता है।

शास्त्रों वर्णित भी है कि होंठों से ईश्वर का जाप करने से जितना पुण्य मिलता है उससे कई गुणा अधिक पुण्य मन का मनका फेरकर हरि का नाम लेने से मिलता है। इसी तिथि को संतों की भांति चुप रहें तो उत्तम है अगर संभव नहीं हो तो अपने मुख से कोई भी कटु शब्द न निकालें। इस तिथि को भगवान विष्णु और शिव जी दोनों की पूजा का विधान है। वास्तव में शिव और विष्णु दोनों एक ही हैं जो भक्तो के कल्याण हेतु दो स्वरूप धारण करते हैं इस बात का उल्लेख स्वयं भगवान ने किया है।

इस दिन पीपल में आर्घ्य देकर परिक्रमा करें और दीप दान दें। इस दिन जिनके लिए व्रत करना संभव नहीं हो वह मीठा भोजन करें।