कांग्रेस राज में हुए कांडों की परते लगी खुलने,मौके पर पहुँच एक्शन में आए वन मंत्री गोविंद ठाकुर,थर-थर कांपे आरोपी ।

Uncategorized

कांग्रेस राज में क्या-क्या होता था वो सब अब प्रदेश की जनता के सामने आ रहा है जैसे ही सत्ता में BJP आए बड़े बड़े राज खोलना शुरू हो चुके हैं पहले पता चला किस तरह से मुख्यमंत्री रिलीफ फंड को खाली कर दिया गया है और आप यह बड़ा खुलासा हुआ है ।

सब तहसील जुन्गा में वन विभाग की कोटी रेंज में 400 पेड़ों के कटान मामले में जमकर नियमों का उल्लंघन हुआ है। सूत्रों के मुताबिक पूर्व कांग्रेस सरकार के समय प्रशासन ने नियमों के खिलाफ आरोपी को खनन करने के लिए पंजीकृत कर दिया।वन मंत्री खुद आज मौके पर पहुंचे और एक्शन में आ चुके है कौन कौन बड़े लोग इसके पीछे थे अब वो सच प्रदेश की जनता के सामने जल्दी ही आने वाला है।

शनिवार को ही वन मंत्री ने कहा था आरोपी नही बचेंगे और आज खुद वन मंत्री मौके पर पहुँच गए।

 

नियमों के मुताबिक खनन किस चीज का किया जाना है, उसे दर्शाने के बाद ही पंजीकरण किया जाता है। ऐसे में प्रशासन ने आरोपी को किसके कहने पर नियमों के खिलाफ अनुमति दी, यह सवाल उठ रहा है। वहीं, दिलचस्प बात तो यह है कि आरोपी ने वर्ष 2015 में माइनिंग लीज के लिए आवेदन किया था, जबकि आज तक खनन लीज मिली ही नहीं है।

आरोपी भूप सिंह ने पुलिस में दावा किया है कि वह अपनी जमीन पर क्रशर लगाने के लिए पेड़ काट रहा था। उधर, वन विभाग को कटान का पता चला तब तक पेड़ कट चुके थे, लेकिन इस मामले में एक और पहलू है कि वन विभाग की भूमि के ततीमें भूप सिंह के नाम कटे हैं। राजस्व विभाग ने कैसे वन भूमि को मलकीयत साबित कर दिया। इसके साथ ही आरोपी एक बड़े नेता का करीबी भी बताया जा रहा है। आरोपी को अभी तक गिरफ्तार नहीं किया गया है। असल में पुलिस ने मामले की पूरी फाइल तैयार नहीं की है। कुछ दिन के भीतर आरोपी को पुलिस गिरफ्तार कर सकती है। वहीं पीसीसीएफ ने मामले की जांच शुरू कर दी है।

न्यूज़ सोर्स न्यूज़ सोर्स