बड़ी खबर : विवादित फिल्म पद्मावती को लेकर मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर का बहुत बड़ा फैसला, सब रह गए सन्न!

Uncategorized

इस वक्त एक बहुत ही बड़ी खबर आ रही है फिल्म पद्मावती को लेकर जहां पूरे देश में विरोध प्रदर्शन हो रहे हैं हिमाचल भी इससे अछूता नहीं रहा है हिमाचल में भी फिल्म पद्मावती को लेकर बहुत विरोध हुआ है और अब नई सरकार बनने के बाद सभी की नजरें इसी तरफ थी की फिल्म पद्मावती को लेकर हिमाचल प्रदेश सरकार क्या निर्णय लेती है!

राजस्थान सरकार के नक्शे कदम पर चलते हुए हिमाचल प्रदेश में भाजपा शासित जय राम ठाकुर सरकार ने भी संजय लीला भंसाली की विवादास्पद फिल्म पद्मावत के प्रदर्शन पर रोक लगा दी है। करणी सेना की तरह हिमाचल में भी इस फिल्म का कुछ संगठन विरोध कर रहे थे। आखिरकार सरकार ने विरोध को देखते हुए फिल्म के प्रदर्शन पर रोक लगाने का फैसला लिया है। सरकार ने इस पर बैन लगाने के लिए तनिक भी देर नहीं की। हालांकि सरकार इस मामले पर सार्वजनिक तौर पर कुछ भी कहने से कतरा रही है। सरकार द्वारा उठाया गया यह एक बहुत ही सराहनीय कदम है इसकी सबसे बड़ी वजह यह है की इससे बॉलीवुड को सबक जरूर मिलेगा जिस तरह से हिंदू धर्म को टारगेट करते हुए हमेशा से बॉलीवुड में फिल्में बनती आई हैं शायद आगे से बॉलीवुड उस तरह की फिल्में बनाने में 1000 बार सोचें!

 

बीजेपी शासित राज्यों में इस फिल्म को विवादित होने की वजह से लगभग बंद कर दिया गया है हालांकि इस फिल्म को लेकर जिस तरह से विवाद बढ़ा था उसके बाद इस फिल्म में 300 से ज्यादा कट किए गए हैं उसके बावजूद इस फिल्म को लेकर अभी तक विवाद खत्म होता हुआ नजर नहीं आ रहा है रानी पद्मावती को लेकर जिस तरह से फिल्म में दिखाया गया है उसको लेकर पूरा हिंदू समाज इसका विरोध कर रहा है!

पद्मावती के प्रदर्शन पर रोक लगाने के फैसले पर प्रतिक्रिया देते हुए सी एम जय राम ठाकुर ने कहा कि मैं इस मामले पर कुछ ज्यादा नहीं बोलना चाहता। हमें क्या करना है इस पर विचार चल रहा है। लेकिन हमारा मानना है कि यह फिल्म विवादास्पद है। मैं कला का कद्रदान हूं, लेकिन साथ ही हमें यह भी देखना होगा कि कला व कलाकार कहीं जनभावनाओं को आहत तो नहीं कर रहे हैं। इस पर विचार मंथन होना चाहिए।