क्या आप जानते हैं शादी के दिन होने वाली बारिश शुभ है या अशुभ… ?

आध्यात्म

क्या आप जानते हैं शादी के दिन होने वाली बारिश शुभ है या अशुभ… ? शादी एक ऐसी डोर है जिसमे 2 इन्सान ही नहीं बल्कि 2 परिवार आपस में जुड़ जाते है. भारत में शादी बड़े ही चाव-मस्ती से की जाती है. भारत में शादी एक उत्सव की ही तरह ही होती है जिसकी तैयारियां काफी दिन पहले से ही शुरु कर दी जाती है. यही तो कारण है कि अक्सर भारतीय शादियां ‘बिग फैट वेडिंग’ लिस्ट का हिस्सा बनती हैं.

पर कई बार ऐसा होता है की शादी के दिन जोरदार बारिश हो जाती है, जिससे की गयी तैयारियां ख़राब हो जाती है. शादी के दिन बारिश होने से भी काफी सारे अंधविश्वास जुड़े हुए होते है. कोई इसे गुड लक चरम बताता है तो कोई शादी के दिन बारिश को अच्छी नहीं मानता है. इसलिए कोई भगवान से मिन्नते करता है कि उसकी शादी में बारिश की वजह से खलल ना पड़े.

वैसे शादी के दिन हुई बारिश मेहमानों के लिए भी मुसीबत का कारण बन जाती है. सडको पर पानी भरने से लोगी को शादी में पहुचने में दिक्कत आती है. कई बार तो खाना खाते हुए ही बारिश शुरु हो जाती है जो सबसे बड़ी मुसीबत के तौर पर उस समय उभरती है.

एक मान्यता के अनुसार शादी के दिन बारिश होना रिश्तों में मजबूती को दर्शाता है. ऐसा कहा जाता है की जब शादी के दिन वर वधु की गाठ पर बारिश का पानी पड़ता है तो वो गाठ और भी मजबूत हो जाती है. वहीं कुछ अलग विचारधाराओ के अनुसार ये भी कहा जाता है की जिस प्रकार बारिश का पानी मौसम साफ़ करता है थी उसी प्रकार शादी के वातावरण को भी अच्छा बना देता है.

वहीं कुछ का ये भी मानना है की शादी के दिन वर्षा का मतलब शादी के जोड़े को जल्द संतान का आशीर्वाद होता है. दरअसल एक मान्यतानुसार शादी के दिन वर्षा होने जैसी स्थिति को ‘प्रजनन’ से जोड़ा जाता है. इसके अलावा शादी के दिन वर्षा वर वधु के वैवाहिक जीवन को खुशाल बना देता है शादी के दिन वर्षा को दाम्पत्य जीवन से भी जोड़ा जाता है.. !!