दादा-पोती का रिश्ते हुआ शर्मसार,दादा बोला-‘बेटी अब ज्यादा दर्द नहीं होगा मैं बुड्डा हो गया हूँ’

Crime

इंटरनेट डेस्क: हमारे भारत में जहाँ संस्कारों और रीति रिवाजों को सबसे अहम माना जाता है, वहीँ दूसरी तरफ कुछ लोग अपने ही रिश्तों में शर्म की सीमाएं लांग रहे हैं. आये दिन हमारे समाज में ऐसी ऐसी घटनाएं घट रही हैं कि किसी के भी होश उड़ जाएँ. पुराने समय में लोग हर घर की बहु बेटी को अपने घर की इज्जत समझ कर सिर झुका कर निकल जाते थे. लकिन, अब समय इतना बदल चुका है कि हर लड़का और हर आदमी आती जाती हर औरत को ताड़ता है.

यहाँ तक कि अब कोई ना किसी का भाई है ना ही ही बाप. अब अपने ही अपनों के रिश्ते की हदें पार हैं. लोगो की जिस्मानी भूख दिनों दिन बढती जा रही है. ऐसे में वह किसी रिश्ते की प्रवाह नही करते और मासूम लड़कियों और औरतों को अपनी गंदी नजर का शिकार बना लेते हैं. आज हम आपके सामने एक ऐसा ही अजीबो गरीब मामला लेकर आये हैं. जहां, एक दादा ने अपनी ही पोती के साह शर्म की हर सीमा लांग दी और जबरदस्ती उसके साथ नाजायज़ सम्बन्ध बना लिए. तो चलिए जानते हैं आखिर ये पूरा मामला क्या था…

दरअसल ये मामला गायत्रीनगर का है. जहाँ एक दादा ने अपनी 11 साल की पोती पर ही अपनी गंदी हवस भरी नजर टिका रखी थी. पुलिस ने फिलहाल बच्ची को चाइल्ड केयर डिपार्टमेंट में भिजवा दिया है. जानकारी के अनुसार पुलिस को दीये एक बयान में मासूम बच्ची ने बताया कि उसका दादा पिछले दो सालों से उसकी आबरू से खेलता हुआ आ रहा है.

आपकी जानकारी के लिए हम आपको बता दें कि पीड़िता बच्ची का नाम अलका है और पुलिस को दी गयी जानकारी में अलका ने बताया कि उसकी मां फ़िलहाल  लखीमपुर में अपने तीसरे पति के साथ रह रही हैं जिसकी वजह से उसको अपने दूसरे पिता धीरेंद्र के पिता धर्मेंद्र यादव के घर ररहना पड़ रहा था. अलका ने बताया कि उसकी माँ उसको यहाँ छोड़ कर चली गई थी. तब से वो अपने दादा के साथ ही रह रही थी.

अलका ने पुलिस को बताया कि अक्सर दादा उसके साथ गलत करने की नियत में बैठे रहते थे. इसके इलावा जब वह अपनी सौतेली बहन के साथ सो रही थी तो वह हाफ पैंट पहन कर उसके कमरे में आगये. जब सबने पूछा कि उन्होंने ऐसा क्यों किया तो उन्होंने कहा कि बाथरूम करने के लिए थे लेकिन, अँधेरे में ना दिखने के कारण वह बच्चियों के कमरे में चले गये. केवल यही नहीं बल्कि, एक दिन जब अलका की दादी और बाकी अन्य परिजन घर पर नही थे तो वह कमरे में अकेली थी.

उसी वक्त उसके दादा बिना कपड़ों के उसके कमरे में आ गये और कहने लगे कि “बेटी अब मैं बुड्डा हो गया हूँ इसलिए अब तुम्हे ज्यादा दर्द भी नहीं होगा”. ऐसा कहते ही उन्होंने अलका के साथ जबरन सम्बन्ध बना लिए और दो सालों तक रोज़ ऐसा ही करते रहे. जिसके बाद से बच्ची काफी डर चुकी थी.

इन सब के दौरान पिछली  29 जुलाई को एनजीओ रेड ब्रिगेड की हेड ऊषा विश्वकर्मा अल्का के घर उससे मिलने पहुंची थीं वहां ,अल्का ने उन्हें सारा सच बताया , जिसके बाद उषा रो पड़ी और उसको चाइल्ड केयर डिपार्टमेंट के पास ले गयी.