अयोध्या मुद्दे पर मध्यस्थता के लिए ओवैसी ने श्री श्री रविशंकर की उड़ाई खिल्ली, जोकर तक बोल किया अपमान

आतंकवाद, देश, पर्सनल लो, पॉलिटिक्स, ब्रेकिंग न्यूज़

सांसद असुद्दीन ओवैसी ने अयोध्या विवाद हल करने के लिए आध्यात्मिक गुरु श्री श्री रविशंकर की कोशिशों को महज एक मजाक करार दिया है और कहा है कि उन्हें इस विवाद को सुलझाने की कोई अथॉरिटी नहीं है। श्री श्री को जोकर करार देते हुए ओवैसी ने कहा कि वे कुछ भी कर लें उन्हें उनकी इस कोशिश के लिए नोबेल पुरस्कार नहीं मिलने वाला है। ओवैसी के मुताबिक कुछ ऐसे लोग जो मुगल लिखना तक नहीं जानते मुगलों का वंशज होने का दावा करते हैं, और अयोध्या विवाद पर अपना पक्ष रखते हैं। ओवैसी ने कहा कि ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड इस मामले में पहले ही कह चुका है कि उसे किसी तरह का ऑफर स्वीकार नहीं है।

इसलिए इस मुद्दे पर रविशंकर को पतंगबाजी नहीं करनी चाहिए।श्री श्री की खिल्ली उड़ाते हुए ओवैसी ने कहा, ‘पहले एनजीटी ने जो जुर्माना उनपर लगाया है वो उसे चुकाये फिर शांति की बात करें। ओवैसी के मुताबिक अयोध्या केस को सुलझाने के लिए मध्यस्थता के उनके प्रस्ताव को लेकर उन्हें नोबेल पुरस्कार नहीं मिलने वाला है।

सांसद असुद्दीन ओवैसी ने अयोध्या विवाद हल करने के लिए आध्यात्मिक गुरु श्री श्री रविशंकर की कोशिशों को महज एक मजाक करार दिया है और कहा है कि उन्हें इस विवाद को सुलझाने की कोई अथॉरिटी नहीं है। श्री श्री को जोकर करार देते हुए ओवैसी ने कहा कि वे कुछ भी कर लें उन्हें उनकी इस कोशिश के लिए नोबेल पुरस्कार नहीं मिलने वाला है। ओवैसी के मुताबिक कुछ ऐसे लोग जो मुगल लिखना तक नहीं जानते मुगलों का वंशज होने का दावा करते हैं, और अयोध्या विवाद पर अपना पक्ष रखते हैं। ओवैसी ने कहा कि ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड इस मामले में पहले ही कह चुका है कि उसे किसी तरह का ऑफर स्वीकार नहीं है। इसलिए इस मुद्दे पर रविशंकर को पतंगबाजी नहीं करनी चाहिए।श्री श्री की खिल्ली उड़ाते हुए ओवैसी ने कहा, ‘पहले एनजीटी ने जो जुर्माना उनपर लगाया है वो उसे चुकाये फिर शांति की बात करें। ओवैसी के मुताबिक अयोध्या केस को सुलझाने के लिए मध्यस्थता के उनके प्रस्ताव को लेकर उन्हें नोबेल पुरस्कार नहीं मिलने वाला है।