बड़ी ख़बर :- पाकिस्तान के बाद अब म्यांमार बॉर्डर पर इंडियन आर्मी का सर्जिकल स्ट्राइक

24, Delhi, indian army, National, surgical strike

पाकिस्तान के बाद अब म्यांमार बॉर्डर पर इंडियन आर्मी का सर्जिकल स्ट्राइक

यह ऑपरेशन इंडो-म्यांमार बॉर्डर के लंगखू गांव में सुबह 4:45 बजे किया गया.

पाकिस्तान में सर्जिकल स्ट्राइक के बाद भारतीय सेना ने म्यांमार बॉर्डर पर एक और सर्जिकल स्ट्राइक की है. भारतीय सेना ने म्यांमार के नागा इंसर्जेंट कैंप में इसे अंजाम दिया.
शुरुआती जानकारी के मुताबिक, यह ऑपरेशन इंडो-म्यांमार बॉर्डर के लंगखू गांव में सुबह  4:45 बजे किया गया. भारतीय सेना ने यहां से नागा उग्रवादियों के कई कैंप बर्बाद किए.
भारत के सर्जिकल स्ट्राइक से कई आतंकियों के मरने की सूचना है, लेकिन अभी इसकी आधिकारिक पुष्टि नहीं हुई है.

Detailed statement attached pic.twitter.com/nbLYMLCqxQ
— EasternCommand_IA (@easterncomd) September 27, 2017

Heavy casualties reportedly inflicted on NSCN(K) cadre. No casualties suffered by Indian Security Forces: Eastern Command, Indian Army
— ANI (@ANI) September 27, 2017

Reports of casualties to Indian Army factually incorrect. Firefight

occurred along Indo-Myanmar border at 0445 hrs today: Eastern Command,
— ANI (@ANI) September 27, 2017

BREAKING NOW | INDIAN ARMY, EASTERN COMMAND: Firefight occurred along Indo-Myanmars border at 4:45 am today #SurgicalStrike pic.twitter.com/VEr1KWgU9v
— ET NOW (@ETNOWlive) September 27, 2017

बता दें कि पिछले साल 28-29 सितंबर की दरमियानी रात को भारतीय सेना ने एलओसी पार करके आतंकी लॉन्च पैड पर हमले किए थे.
इनमें पाकिस्तान के आतंकवादी संगठन लश्कर-ए-तैयबा को बहुत नुकसान हुआ था. सेना ने सर्जिकल स्ट्राइक के लिए उरी हमले में नुकसान झेलने वाले यूनिटों के सैनिकों के इस्तेमाल का निर्णय किया.
पाकिस्तान में ऐसे की गई थी सर्जिकल स्ट्राइक

– बुधवार आधी रात के बाद शुरू हुआ ऑपरेशन,

– भारतीय सेना के 40 पैरा कमांडो भेजे गए,

– हेलीकॉप्टर से कमांडो को लाइन ऑफ कंट्रोल के पास उतारा गया,

– भारतीय कमांडो ने पैदल ही एलओसी पार की,

– 8 आतंकी लॉन्च पैड पर अलग-अलग वक्त पर हमला,

– सुबह 4.30 बजे ऑपरेशन खत्म हुआ,

– इस ऑपरेशन में करीब 40 आतंकवादी मारे गए,
क्या होती है सर्जिकल स्ट्राइक?

– सीमित क्षेत्र में दुश्मन को मार गिराने की कार्रवाई,

– सिर्फ टारगेट पर होता है सटीक हमला,

– दुश्मन को सबसे ज्यादा नुकसान,

– बिना चेतावनी, गुप्त रूप से तेज रफ्तार से हमला,

– दुश्मन को नहीं मिलता संभलने का वक्त,