विकलांग ही नहीं! छात्र-छात्रों, किसान, मजदुर, शिक्षक और रोगी को भी मिलती है रेल टिकट में 75% तक छूट

आम धारणा है कि रेलवे में कुछ वर्ग विशेष के लोगों को ही किराये पर छूट मिलती है, लेकिन ऐसा नहीं है। आप भी रेलवे द्वारा दी जाने वाली छूट का फायदा उठा सकते हैं। यह छूट 75 फीसदी तक होती है, लेकिन इस छूट का लाभ उठाने के लिए आपको कुछ बातों का ध्यायन रखना होगा। इसकी जानकारी न होने के कारण लोग पूरा किराया भर कर रेलवे का सफर करते हैं। अगर आपको इसकी जानकारी हो तो आप भी इसका फायदा उठा सकते हैं । दिलचस्पप बात यह है कि इन छूट का जिक्र भारतीय रेलवे के नियमों में स्पष्ट तौर पर किया गया है, लेकिन रेलवे इन नियमों का प्रचार प्रसार नहीं करता, जिस कारण आपको इस बारे में नहीं पता चल पाता।

आज हम आपको इसकी पूरी जानकारी देंगे कि कैसे आप भी सामान्यो वर्ग से होने के बावजूद रेलवे की छूट का फायदा उठा सकते हैं। रेलवे द्वारा अलग अलग परिस्थितयों में 75 फीसदी तक की छूट दी जाती है। आइए, जानते हैं कि रेलवे के किन नियमों के तहत आप किराये पर छूट पा सकते हैं।

इन बातों का रखें ध्यांन तो मिलेगी 75 फीसदी तक छूट

गवर्नमेंट स्कूल में पढ़ने वाली लड़कियां यदि किसी नेशनल एंट्रेंस इग्जाम में जा रही हैं तो उन्हें सेकेंड क्लाास में 75 फीसदी तक छूट मिलती है। अगर आप खिलाड़ी हैं और किसी नेशनल टूर्नामेंट में हिस्सास लेने जा रहे हैं तो आपको 75 फीसदी छूट मिलती है और स्टेखट टूर्नामेंट में भाग लेने जा रहे हैं तो 50 फीसदी छूट मिलेगी। अगर आप थियेटर, म्युेजिक, डांसिंग, मैजिशियन आर्टिस्टे हैं और कहीं परफॉर्म करने जा रहे हैं तो आपको सेकेंड या स्लिपर क्लाटस में 75 फीसदी, एसी चेयरकार में 50 फीसदी छूट मिलती है।

अगर आप स्टूटडेंट हैं तो किराये में पाएं 50 फीसदी छूट

अगर आप सामान्यट वर्ग से हैं, लेकिन अभी पढ़ाई कर रहे हैं तो भी रेल किराये में छूट पा सकते हैं। बस आपको अपना ट्रेवल परपज बताना होगा। यानी कि अगर आप यूपीएससी या सेंट्रल स्टातफ सेलेक्श न कमीशन के लिए एग्जाटम देने जा रहे हैं तो आप आप एडमिट कार्ड दिखाकर 50 फीसदी छूट पा सकते हैं। 35 साल से कम आयु वर्ग के हैं और रिसर्च स्कॉलर हैं तो आप रिसर्च वर्क के लिए सफर करते वक्त  50 फीसदी तक छूट हासिल कर सकते हैं।

किसान मजदूर को भी मिलती है छूट

अगर आप किसान हैं और किसी रिवर रैली प्रोजेक्टर, किसी एग्रीकल्चरर या इंडस्ट्रियल एग्जी बिशन में जा रहे हैं या किसी रिसर्च सेंटर जा रहे हैं तो उन्हेंो किराये में 25 फीसदी छूट मिलेगी। यदि कोई किसान सरकार द्वारा घोषित स्पेकशल ट्रेन में सफर करते हैं तो उन्हें  33 फीसदी छूट मिलेगी। अगर किसान या मिल्कस प्रोड्यूसर कम से कम 20 के समूह में हों तो उन्हेंे भी 50 फीसदी छूट दी जाती है। अगर आप भारत कृषक समाज और सर्वोदय समाज, वर्धा से जुड़े हैं तो वार्षिक सम्मेेलन में जाने के लिए आपको 50 फीसदी तक छूट मिलती है।

टीचर्स को भी मिलती है छूट

अगर आप प्राइमरी, सेकेंडरी या हायर सेकेंडरी स्कूुल के टीचर हैं और किसी एजुकेशनल टूर में जा रहे हैं तो आपको 25 फीसदी तक छूट मिल जाती है। अगर आप सर्विस सिविल इंटरनेशनल के वोलियंटर हैं तो आपको कैंप या ऑफिस बिजनेस के लिए सफर करने पर 25 फीसदी की छूट मिलती है। अगर आप भारत सेवा दल से जुड़े हैं तो आपको 25 फीसदी छूट मिल सकती है। अगर आप सेंट जॉन एंबुलैंस बिग्रेड और रिलीफ वेलफेयर एंबुलैंस कॉर्प से जुड़े हैा तो आपको भी 25 फीसदी की छूट मिलती है।

रोगियों और सहायकों मिलती है 75 फीसदी तक छूट

आपको इस बात की जानकारी नहीं होगी कि अगर आपको या आपके परिवार के किसी सदस्य  को कोई लंबी बीमारी है तो रेलवे रोगी और उनके साथ जाने वालों को भी छूट देती है। जैसे कि अगर आपके परिवार में किसी को कैंसर है तो उन्हें  75 फीसदी और अगर आप सहायक के तौर पर सफर करें तो आपको भी 75 फीसदी तक छूट मिलेगी। इसी तरह थैलासीमिया रोगी और उसके सहायक को 75 फीसदी, हार्ट पेंशेंट और उसके सहायक को 75 फीसदी, किडनी पेशेंट और उनके एस्कॉोर्ट को 75 फीसदी, टीबी या लुपुस वल्गऔरिस को 75 फीसदी, लेपरोसी पेशेंट को 75 फीसदी, हीमोफीलिया पेशेंट को 75 फीसदी, एड्स पेशेंट को 50 फीसदी, एनीमिया पेशेंट को 50 फीसदी किराये में छूट दी जाती है।

Post Credit: Rajivdixitji.com