जनधन खाताधारकों के लिए खुशखबरी, इस तारीख से मिलने लगेगी 500 रुपये की दूसरी किस्त

Politics, देश, भारत

नई दिल्ली। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण की घोषणा के अनुरूप महिला जनधन खाताधारकों को सोमवार से 500 रुपये की दूसरी किस्त मिलने लगेगी। कोविड-19 संकट के समय गरीबों की मदद के लिए सरकार ने तीन महीनों तक महिला जनधन खाताधारकों के अकाउंट में हर माह 500 रुपये भेजने की घोषणा की थी।

सीतारमण ने 26 मार्च को इस बात का एलान किया था। फाइनेंशियल सर्विसेज सेक्रेटरी देबाशीष पांडा ने मई महीने की किस्त भेजे जाने के बारे में जानकारी दी। उन्होंने कहा कि बैंकों की शाखाओं में भीड़ ना हो, इस बात को ध्यान में रखते हुए एक समय सारणी विकसित की गई है, जिसके तहत बैंक अकाउंट के आखिरी अंक के आधार पर महिला जनधन खाताधारक बैंकों से पैसे निकाल सकती हैं।  

इस समय सारणी के मुताबिक जिन महिला जनधन खाताधारकों के अकाउंट का आखिरी अंक शून्य या एक है, वे चार मई को दूसरी किस्त की निकासी कर सकती हैं। वहीं, जिन अकाउंट्स के आखिर में दो या तीन अंक आते हैं, वे इस योजना के तहत पांच मई को पैसे निकाल सकती हैं। इसी तरह जिन लोगों के अकाउंट का आखिरी अंक चार या पांच है, उन्हें छह मई को पैसे मिलेंगे।

Pradhan Mantri Jan Dhan Yojana (PMJDY) के जिन खाताधारकों के अकाउंट नंबर छह और सात नंबर से समाप्त होने वाले हैं, वे आठ मई को दूसरी किस्त निकाल सकते हैं। वहीं, जिन लोगों के अकाउंट का आखिरी अंक आठ और नौ नंबर है, उन्हें 11 मई को दूसरी किस्त मिल जाएगी।  

पांडा ने शनिवार को ट्वीट कर कहा, ”प्रधानमंत्री गरीब कल्याण पैकेज के तहत महिला PMJDY लाभार्थियों को मई महीने की 500 रुपये की किस्त भेजी जा रही है। लाभार्थियों से अनुरोध है कि पैसे की निकासी के लिए बैंक या CSPs जाने से पहले दिए गए शिड्यूल का पालन करें। एटीएम और बैंक सहायकों के जरिए भी पैसों की निकासी की जा सकती है।”

हालांकि, पांडा ने स्पष्ट किया है कि आपात स्थिति में पैसे की निकासी तत्काल की जा सकती है। वहीं, 11 मई के बाद महिला जनधन खाताधारक अपनी सुविधा के हिसाब से पैसे की निकासी कर सकते हैं। उनकी ओर से जारी ट्वीट में महिला जनधनखातारकों को आसपास के एटीएम, बैंक मित्र और ग्राहक सेवा केंद्र (CSPs) से पैसे निकालने का सुझाव दिया गया है ताकि बैंकों की शाखाओं में ज्यादा भीड़ ना हो।

उन्होंने साथ ही आश्वस्त किया है कि महिला जनधन खातों में सरकार की ओर से भेजी जाने वाली रकम पूरी तरह सुरक्षित है। उल्लेखनीय है कि इस मद में पहली किस्त भेजे जाने के बाद इस तरह की अफवाह फैलने लगी थी कि अगर पैसे को जल्द नहीं निकाला गया तो सरकार उसे वापस ले लेगी। इसके बाद वित्त मंत्रालय और वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने ट्वीट कर इस अफवाह को झूठी और निराधार करार दिया था।