मोदी ने भारत बंदी विरोध में कांग्रेस, कांग्रेस का खुलासा किया

पॉलिटिक्स

बंद का ऐलान कर दिया गया एक देशव्यापी आंदोलन जो कि दलित समाज के द्वारा चलाया जा रहा है और उसको पोलिटिकल पार्टीज  जैसे कि कांग्रेस बहुजन समाज पार्टी आम आदमी पार्टी और अन्य ऑपरेशन की पार्टी इस आंदोलन को हवा दे रही हैं और भारत बंद के और दलितों के इस आंदोलन के इस मुद्दे के ऊपर आज हम एक बहुत ही सनसनी  केस वीडियो दिखाने जा रहे हैं इस वीडियो में हम आपको कुछ ऐसे तथ्य दिखाएं ए वाले हैं जिससे यह बात क्लियर हो जाएगी कि जो पूरा आंदोलन है इसको कांग्रेस जैसी पोलिटिकल पार्टीज बैक कर रही है और जितना भी उपवास हो रहा है वह भी कांग्रेस जैसी पार्टी करा रहे हैं

इस मुद्दे पर सबसे पहले एक कहानी जो कि मेरे साथ खुद घटित हुई वह बताना शुरू करता हूं और उसके बाद अन्य अन्य जगहों पर कैसी कैसी घटना कर्म घटी उनके बारे में हम बात करेंगे आज सवेरे मैं दिल्ली के लाजपत नगर से हरियाणा के फरीदाबाद जो कि एनसीआर में आता है और दिल्ली से बिल्कुल सटा हुआ है उस तरफ  हुआ है उस तरफ ट्रैवल कर रहा था मेरे साथ मेरा 3 साल का बीमार बच्चा था जो कि हृदय रोग से ग्रसित है और मेरे साथ मेरे वृत्तीय मां जो कि 60 वर्षीय हैं वह थी हम अपने बेटे का थेरेपी करा कर लाजपत नगर से फरीदाबाद की तरफ आ रहे थे जब हम फरीदाबाद में घुस गए अचानक हमारी गाड़ी पर पत्थर से हमला हुआ जय भीम के नारे हमारे कानों में पढ़ रहे थे हमारी गाड़ी पर पत्थर बरसते हुए देखकर एक पुलिस वाले ने हमें वहां से कैसे भी कर कर निकाला वारदात में हम तीनों में से कोई भी इंजॉय नहीं हुआ ना किसी को चोट आई ना ही कुछ और हादसा हुआ कार पर थोड़े मोटे थे वह मामूली थे लेकिन मुद्दे की बात यह है कि हमारे ऊपर पत्थर से एक गाड़ी पर जिसमें  एक छोटा सा मासूम बीमार बच्चा था और एक मुस्लिम आरती थी उस गाड़ी पर तीन लोग बैठे हुए उनका कोई कसूर नहीं था उस गाड़ी पर पत्थर बरसाए गेम और हमारे जैसे ना जाने कितने और गाड़ियां होंगी स्कूटर बाइक होंगी वह पत्थर बरसाए जा रहे हो तो क्या यह पूरा इंसीडेंट संहिता

मध्यप्रदेश में चार लोगों को प्रोडक्ट के नाम पर मार दिया गया दो ही लोगों की कोई गलती नहीं थी दिनदहाड़े मध्यप्रदेश में प्रोटेक्टर बंदूकों से गोलियां बरसा रहे थे मैंने अभी आपको हरियाणा की बात बताइए जहां पर पत्थर बरसाए जा रहे थे लेकिन मध्यप्रदेश में तो आदत ही वहां पर गोलियां चल रही थी हम आपको वीडियो दिखाते हैं जिसमें आपको पूरे मिलेंगे दिनदहाड़े गोलियां चलाई जा रही थी आदमियों के ऊपर और मध्य प्रदेश में 4 लोगों के मरने की खबर भी हमारे साथ सांझा हुई है आज से कुछ महीने पहले हुए और अपने आप को ठाकुर बताकर राजपूत बताकर प्रोटेक्ट कर रहा था अपने सर पर भगवा बांध रखा था और प्रोटेस्ट में हिस्सा ले रहा था आज वही आदमी अपने सर पर दुपट्टा बांधकर अपने आप को दलित बताकर आज के प्रोडक्ट में हिस्सा ले रहा है इससे क्या समझ में आता है क्या यह दोनों ही प्रोटेस्ट भारतीय जनता पार्टी के खिलाफ ऑपरेशन की सोची समझी चाल नहीं है एक आदमी राजपूत और दलित दोनों ही कैसे हो सकता है एक आदमी पद्मावत के विरोध में प्रोटेस्ट करके अपने आप को राजपूत बताकर आज अपने आप को दलित बताकर प्रोटेक्ट कैसे कर सकता है

यह कांग्रेस और अन्य पोलिटिकल पार्टीज की मिली जुली सोची समझी साजिश है ताकि देश में अराजकता फैलाई जा सके दलित वोटों का ध्रुवीकरण करके फिर से सत्ता हासिल की जा सके ताकि जो दलित वोट उनकी होती थी वह दलित वोट उनकी फिर से बन जाए और इस पर प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी ने भी कुछ इसी प्रकार के विचार रखे हैं आप देखिए कि मोदी जी इस विषय  पर क्या बोल रहे हैं

“मैं जानता हूं  इन दिनों हमारे खिलाफ यह ज्यादा तूफान खड़ा किया जाता है  क्यों कि जो लोग मानते थे की दलितों के वोट के ठेकेदार हैं दलित समाज  उनके कब्जे में हैं हमारे कार्यकाल में हैं एक के बाद एक जो कदम उठाए उससे उनको लगा कि दलित समाज के पास भारतीय जनता पार्टी  की सच्ची बात अगर पहुंचेगी भारतीय जनता पार्टी की सरकार एनडीए की सरकार मोदी सरकार जो काम कर रही है यह बात अगर दलितों के गले उतर गई तो तो फिर आने वाले 50 साल तक इस पार्टी को कोई हटा नहीं पाएगा और हमारी है तोड़ने वाली राजनीति बंद हो जाएगी आजादी के इतने साल बाद भी अंबेडकर को सम्मान देने का इनको कभी समझा नहीं था यह  पंचायत सिर्फ और सिर्फ भारतीय जनता पार्टी के खिलाफ बने हैं दलितों के एका लेकर चलने वाले कुछ लोग बौखला गए हैं”

 

तो दोस्तों आपको क्या लगता है कि यह सब कांग्रेस की चाल है और क्या मोदी जी सही बोल रहे हैं हमें लाइक और कमेंट करके जरूर बताइए