इन राशियों के लिए खतरनाक हैं चैत्र नवरात्रि के आठ दिन !चेक कर ले अपनी राशि

Hinduism, आध्यात्म

इस साल के राजा सूर्य और मंत्री शनि होंगे। वहीं अष्टमी और नवमी एक साथ पड़ने के कारण नवरात्र आठ दिन के होंगे। यह लगातार चौथा साल है जब नवरात्र 8 दिन के रहेंगे।

2018 में चैत्र नवरात्रि 18 मार्च से शुरू होकर 25 मार्च तक रहेगी। इससे पहले 2017 में 29 मार्च से 5 अप्रैल तक थी। 2016 में 8 मार्च से 15 मार्च और 2015 में 21 से 28 मार्च तक नवरात्र थे। हालांकि, 2014 में नवरात्रि 31 मार्च से 8 अप्रैल तक थी, यानी पूरे 9 दिनों की, ज्योतिषियों के मुताबिक जब दो तिथियां एक साथ आती हैं तब ऐसी स्थिति बनती है। कुछ विद्वानों के अनुसार नवरात्र की तिथियाें का कम होना अच्छा नहीं माना जाता।

इस वर्ष साल 2018 में प्रतिपदा तिथि एक दिन पहले अर्थात 17 मार्च को संध्याकाल में 7.41 बजे प्रारंभ हो जाएगी, लेकिन इसे सूर्योदय काल से 18 मार्च को ही माना जाएगा। बीते कुछ वर्षों की तरह इस बार भी तिथियों का फेर हो रहा है। इस बार 25 मार्च रविवार को अष्टमी और नवमी तिथि में सूर्योदय होगा। जिससे ये तिथियां एक ही दिन पड़ रही है। तिथियों की घट-बढ़ कुछ सालों से नवरात्रि में प्रायः देखने मिल रही है। हालांकि इससे व्रत नियमों पर कोई प्रभाव नहीं पड़ेगा।

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि नवरात्र खत्म होने से पहले वास्तु के अनुसार कुछ ऐसे काम बताए गए है जिन्हें आपको करना है इन्हें नही करने से ऐसा माना जाता है कि आपको पूजा का पूरा फल नही मिलता है. कईलोग घर के कबाड़ को इधर-उधर जमा करके रखते है चाहे वह छत हो या कोई कमरा हो. घर के कबाड़ को छत पर ले जाकर न रखे. छत अगर आपके घर की गंदी पड़ी है तो नवरात्र आने से पहले उसको बिलकुल साफ-सुथरा कर ले.

जहाँ कुछ राशियों पर माता रानी इस नवरात्र पर अपनी कृपा बरसाने वाली है वहीँ कुछ राशियों पर संकट मंडरा सकता है इसका पूरा वर्णन हमने नीचे दी गयी विडियो में किया है !

https://www.youtube.com/watch?v=EBcaNdr06RY