गुलशन कुमार के प्यार ने कर दिया बर्बाद वरना ये सिंगर बन जाती दूसरी लता मंगेश्कर !

Uncategorized

बॉलीवुड में हर दिन कोई न कोई चमकने का सपना लेकर आता है किसी कि किस्मत उसका साथ देती है तो कोई कहीं का नहीं रहता शायद इसी वजह से इसे मायानगरी कहा जाता है कुछ ऐसा ही हुआ है.

लंबे समय से लाइमलाइट से दूर रहने वाली सिंगर अनुराधा पौडवाल के साथ एक समय था जब अनुराधा पौडवाल को बॉलीवुड इंडस्ट्री कि अगली लता मंगेशकर कहा जाता था !

लेकिन शायद किस्मत को कुछ और ही मंजूर था अनुराधा के एक गलत फैसले की वजह से उनका पूरा करियर बर्बाद हो गया आज हम आपको अनुराधा की जिंदगी से जुड़ी कुछ ऐसी बातें बताने जा रहे हैं जो शायद कम ही लोग जानते होंगे.

जहां से हुई करियर की शुरुआत

अनुराधा ने  फिल्म ‘अभिमान’ से अपने करियर की शुरुआत की  थी अब वे करीब पिछले 11 सालों से गायन की दुनिया से दूर है उन्होंने आखरी बार फिल्म “जाने होगा क्या” में गाने गाए थे इसके बाद उन्होंने किसी फिल्म के लिए गाना नहीं गाया

एक गलत फैसले ने बर्बाद कर दिया करियर :

अनुराधा जब अपने करियर के पीक पर थी तो उन्होंने मीडिया के सामने यह बात कह दी थी कि वह अब सिर्फ गुलशन कुमार की कंपनी टी सीरीज के लिए गाएंगी उनका लिया गया यह फैसला उनके लिए ही घातक बन गया इसके बाद उन्होंने किसी और के लिए कभी गाना नहीं गाया

दूसरी सिंगर ने उठाया फायदा 

उस समय फिल्म इंडस्ट्री में कई और सिंगर स्ट्रगल कर रही थी वही अनुराधा की ओर से कही गई यह बात कि वह किसी और के लिए नहीं गाएंगे इसका पूरा फायदा उठाया उस दौर की अलका याग्निक और दूसरी सिंगर ने ! जैसे ही अनुराधा ने फिल्मों के छोड डिवोशनल सॉन्ग शुरू किया तो धीरे-धीरे उनका कैरियर ढलने लगा करीब 5 साल तक अनुराधा ने किसी भी दूसरी फिल्म या म्यूजिक  कंपनी के लिए कोई गाना नहीं गाया

गुलशन की मौत के बाद गाना गाना छोड़ दिया

अचानक हुई गुलशन कुमार की मौत के बाद राधा पूरी तरह से टूट गई थी इसके बाद तो उन्होंने फिल्मी गाने गाना छोड़ ही दिया फिर मैं सिर्फ गुजरने लगे उसके बाद धीरे-धीरे उन्होंने पूरी तरह से घायल से दूरी बना ली !

पति की मौत ने उन्हें पूरी तरह से तोड़कर रख दिया 

अनुराधा की शादी अरुण पौडवाल से हुई थी जो एसडी बर्मन के असिस्टेंट और खुद भी एक म्यूजिक कंपोजर थे दोनों के दो बच्चे है आदित्य और कविता पौडवाल ! कहा जाता है कि अरुण पौडवाल की असमय मौत हो जाने के कारण अनुराधा पूरी तरह से अकेली पड़ गई थी वह अकेले ही दोनों बच्चों की जिम्मेदारी उठाती थी इससे बाद ही उनकी मुलाकात गुलशन कुमार से हुई अकेली अनुराधा को गुलशन का सहारा मिला और वह उनकी ओर झुकती चली गईं अनुराधा ने करीब 10 साल से ज्यादा समय तक टी सीरीज के लिए काम किया !

कई भाषाओं मे गाये गाने :

अनुराधा पौडवाल ने न सिर्फ बॉलीवुड प्लेबैक सिंगिंग की बल्कि भजन गायिका में भी उन्होंने नाम कमाया अनुराधा ने बॉलीवुड गानों और भजनों के अलावा पंजाबी ,बंगाली ,मराठी तमिल  तेलुगु ,उड़िया और नेपाली भाषा में भी गाने गाए

 कभी नहीं ली क्लासिकल सिंगिंग की ट्रेनिंग

इंडियन म्यूजिक को अनुराधा बहुत ही अच्छी तरह से पेश करती थी लेकिन उन्होंने कभी भी क्लासिकल सिंगिंग की ट्रेनिंग ही नहीं ली थी अनुराधा ने खुद एक इंटरव्यू में कहा था कि उन्होंने क्लासिकल सिंगिग  की बहुत कोशिश की लेकिन उनसे यह न पाया

अनुराधा पौडवाल को फिल्म Aashiqui, दिल है कि मानता नहीं और बेटा के लिए 3 फिल्म फेयर अवार्ड मिले उन्हें अगला लता मंगेशकर कहा जाने लगा था यहां तक की म्यूजिक कंपोजर ओपी नैय्यर ने कहा था लता अब तो खत्म अनुराधा ने उन्हें रिप्लेस कर दिया है अनुराधा लता मंगेशकर की बहुत बड़ी फैन है यहां तक कि वह अपनी सिंगिंग की प्रैक्टिस भी लता जी को सुनते हुए ही करती थीए अपने नाम..

अनुराधा पौडवाल को फिल्म Aashiqui, दिल है कि मानता नहीं और बेटा के लिए 3 फिल्म फेयर अवार्ड मिले उन्हें अगला लता मंगेशकर कहा जाने लगा था यहां तक की म्यूजिक कंपोजर ओपी नैय्यर ने कहा था लता अब तो खत्म अनुराधा ने उन्हें रिप्लेस कर दिया है अनुराधा लता मंगेशकर की बहुत बड़ी फैन है यहां तक कि वह अपनी सिंगिंग की प्रैक्टिस भी लता जी को सुनते हुए ही करती थी