घिनोना सच : शादी से पहले लड़की के साथ किया जाता है रेप,यहां विवाह से पहले निभाई जाने वाली 10 घिनोनी रश्में !

Uncategorized

शादी करने से पहले दुल्हन के साथ किया जाता है घिनौना अपराध, जिसे जानकर हैरान हो उठोगे आप…

शादी हर इंसान के लिए यादगार लम्हां होता है जिसमें दो लोग एक-दूसरे के लिए हमेशा साथ रहने का वादा करते है.शादी एक एेसा रिश्ता है जो दो लोगों को हमेशा साथ रहने का संकेत देता है. अाज के समय में शादी एक एेसा शब्द है जो कहते हुए ही अच्छा लगता है. शादियों से पहले होने वाली परम्पराओं के बारें मे तो आप सभी को पता है.

इस तरह की अजीबोगरीब परंपरा साउथ कोरिया में निभाई जाती है, इस रस्म में दूल्हे को जमीन पर लिटाने के बाद उसके पैरों को रस्सी से बांधकर उसके तलवों पर गन्ने से मारा जाता है, दोस्तों के साथ-साथ, रिश्तेदार भी बारी-बारी से आकर दूल्हे के तलवों पर गन्ने से मारते हैं, साउथ कोरिया में गन्ने को फलाका कहा जाता है।

लेकिन जरा सोचिए कि शादी से पहले आपके चेहरे पर कालिख पोत दी जाए या आपको डंडो से मारा जाएं तो सुनकर थोडा अजीब लग रहा है ना लेकिन ये सत्य है, दुनिया के हर हिस्से में अलग-अलग मान्यताएँ होती हैं? लेकिन कुछ तो इतनी अजीब होती हैं जिन पर विश्वास करना बहुत ही मुश्किल हो जाता है. आज हम आपको ऐसी ही अजीबोगरीब परंपराओं के बारे में बताने जा रहे हैं, जो शादी से पहले निभाई जाती है.

साउथ अमेरिका के एक गांव में शादी से पहले पुरुषों से उनकी मर्दानगी का सबूत मागा जाता है जिसके लिए पुरूषों को शराब का सेवन  कराकर उन्हें 120 वोल्ट का बिजली का झटका दिया जाता है. यदि वह उसका झटका झेल जाता है तो वही असली मर्द माना जाता है. यदि FAIL हो गया तो वह मर्द नामर्द है.

साउथ कोरिया में भी एक अजीबोगरीब परंपरा है जिसमें में दूल्हे को जमीन पर लिटाने के बाद उसके पैरों को रस्सी से बांधकर उसके तलवों पर गन्ने से मारा जाता है,  इस परंपरा को दोस्तों के साथ-साथ उसके रिश्तेदार आदि भी दुल्हे को गन्नों से पीटते हैं. इस परंपरा को गन्ना फलाका कहते हैं.

किर्गिस्तान के लोगों की ये परंपरा है जिसमे हर लड़का शादी करने से पहले अपनी होने वाली पत्नी के साथ जबरन शारीरिक संबंध बनाता है, जो लड़का जिस लड़की के साथ रेप करता है, वो ही उसका पति बन जाता है। सदियों से यह पंरपरा चली आ रही है, इस परंपरा के चलते ही इस देश में सालाना करीब 12000 लड़कियों का अपहरण करके उनके साथ यह गलत काम किया जा रहा है, हालांकि इस देश की सरकार द्वारा इस परंपरा को बैन कर दिया गया है, लेकिन समाज से यह प्रथा अभी भी चली आ रही है।

स्कॉटलैंड में शादी से पहले दुल्हन को कालिख लगाने की रस्म निभाई जाती हैं। इस रस्म के साथ ही रिश्तेदार दूल्हा-दुल्हन को एक पेड़ से बांध देते हैं और उनके ऊपर दूध, आटा, चॉकलेट सीरप, अंडे और इसी तरह की अन्य चीजें डालते हैं, ऐसी मान्यता है कि इस रस्म को निभाने से दूल्हा-दुल्हन को बुरी शक्तियों से बचाया जाता है, इस तरह की रस्में स्कॉटलैंड के कुछ हिस्सों में ही निभाई जाती है।

हिन्दू समाज में लड़के और लड़कियों की कुण्डली मिलाते समय मांगलिक दोष पर अधिक जोर दिया जाता है हिंदू ज्योतिष के अनुसार, मांगलिक लड़के या लड़की की गैर मांगलिक लड़की या लड़के से शादी करने के लिए पहले मांगलिक दोष दूर किया जाता है, इस मांगलिक दोष को दूर करने के लिए मांगलिक को कुंभ विवाह करना होता है, यह कुंभ विवाह भगवान विष्णु की मूर्ति, पीपल या केले के पेड़ के साथ होता है।

मसाई संस्कृति में शादी का तरीका दुनिया में सबसे अनोखा है। यहां दुल्हन को जलील और प्रताड़ित किया जाता है। सगाई के समय लड़की को एक बुजुर्ग के साथ भेजा जाता है, जहां उसके ससुरालवाले उसका स्वागत, उसको जलील करके, मारके और उसके सिर पर गोबर लगाकर करते हैं। वहीं एक और रस्म के तहत लड़की का पिता भी उस पर थूकता है।

फिजी समाज में शादी की रस्म कुछ अलग ही है। इसमें लड़के वालों को दुल्हन के पिता को व्हेल मछली का दांत देना पड़ता है, यह इस बात का प्रतीक होता है कि लकड़े वाले संपन्न घर के हैं। यह परंपरा तबुआ के नाम से प्रचलित है। तभी इन्ही लोगो के कारण दुनिया में व्हेल मछली की तादाद लगातार घटती जा रही है।